17.6 C
Haldwani
Sunday, August 18, 2019
Kafal-pako
गर्मियां शुरू होते ही उत्तराखंड के पहाड़ मौसमी फलों से लदना शुरू हो जाते है। काफल भी उन्हीं मौसमी फलों में से एक फल है। काफल स्वाद में बेसुमार लाल चटक रंग के ये फल रसदार होने के कारण स्थानीय लोगों और पर्यटकों को बहुत लुभाते है। साथ में यह एक ऐसा फल है जिसे प्रकृति की दैन कहा जाता है...
Goljyu-Devta-Ghorakhal
घोड़ाखाल गोलू देवता (Goljyu Devta ) मंदिर में वैसे तो वर्ष भर भक्त पूजा पाठ के लिए आते है, लेकिन नवरात्रि में वहां बड़ी संख्या में श्रद्धालु पूजा करने पहुंचते हैं। उत्तराखंड में, इन्हे "गोलू देवता", "गोलजू महाराज" और न्याय देवता के रूप में पूजा जाता है। घोड़ाखाल मंदिर नैनीताल जिले के भवाली ( Bhowali ) से लगभग पाँच किलोमीटर की...
गरुड़ पुराण के बारे में सभी जानते होंगे। गरुड़ पुराण में स्वर्ग, नरक, पाप, पुण्य के अलावा बहुत कुछ है। इसमें ज्ञान, विज्ञान, नीति, नियम और धर्म शामिल हैं। एक तरफ गरुड़ पुराण में जहां एक ओर मृत्यु का रहस्य छिपा है, वहीं दूसरी ओर जीवन का रहस्य भी छिपा है। गरुड़ पुराण को उत्तराखडं (Uttarakhand) के साथ साथ लगभग...
mere gaon ki yaade
अपनी गॉवो की यादो को अपने साथ समेटे हुए .. ऐ मेरे गांव की सड़को , ऐ मेरे गांव में बिताये हुए मेरे बचपन की यादो... मैं जा रहा हु । तुझसे दूर... जाने का तो बिलकुल मन नहीं कर रहा, पर फिर भी दिल में पत्थर रख कर जा रहा हु " शहर की ओर "  ऐ मेरे गांव...
Maa-Mera-Uttarakhand
विशाखा एक छोटे से शहर के प्राथमिक विद्यालय में कक्षा 5 की शिक्षिका थी। उनकी एक आदत थी जो हमेशा क्लास शुरू करने से पहले "I LOVE YOU ALL" कहती थी। लेकिन वह भी जानती थी कि वह सच नहीं कहती। वह कक्षा के सभी छात्रों से प्यार नहीं करती। कक्षा में एक बच्चा था, जो विशाखा को एक...
Kainchi-Dham-Mandir-Uttarakhand
वैसे तो कैंची धाम नीम करौली बाबा (Kainchi Dham) को उत्तराखंड के साथ साथ विदेशी लोग भी बहुत अच्छे से जानते है बाबा नीम किंरौली महाराज का कैंची धाम आश्रम कुमाऊँ के नैनीताल से 20 किलोमीटर दूर नैनीताल-अल्मोड़ा रोड़ पर समुद्र तल से 1400 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है ।  क्षिप्रा नाम की छोटी पहाडी नदी के किनारे...
uttarakhand palayan migration
टूट गयी मकान , उजड् गो खेत क़िले एतुक लिजी मांगो छी उत्तराखंड ? लोग परदेशों मैं बस गई, बच की गो अब उत्तराखंड मैं ? खाणी-पिणि परदेशों मा, पिकनिक घुमन लिजी आणि उत्तराखंड मैं पूर्वजो की पाल टुटी, देली मा मकडक जाव जम गई फेसबुक मा स्टेट्स लिखणु लागरी , की आई लव माय उत्तराखंड। पलायन पूर पहाडक हेगो क़िले एतुक लिजी मांगो छी उत्तराखंड ? शहीद आंदोलनकारी हेग्गी , उत्तराखंड...
Lord Gautam Buddha
भगवान बुद्ध ने क्यों कहा "जागो" ! समय हाथ से निकला जा रहा है एक ज़माने की बात है । भगवान बुद्ध एक शहर में प्रवचन कर रहे थे। प्रवचन के बाद उन्होंने कहा, "जागो!" समय हाथ से निकल रहा है। ' इस प्रकार उस दिन की प्रवचन सभा समाप्त हुई। सभा के बाद, भगवान बुद्ध ने अपने शिष्य आनंद...
बहुत साल पहले की बात है , ग्वालियर कोट चंपावत में झालुराय का शासन था। उनकी सात रानी थीं। राज्य में चारो तरफ खुशहाली थी। राजा हर समय अपनी प्रजा का ख्याल रखता था। हर तरफ समृद्धि के बावजूद राज्य में एक कमी थी, वो कमी थी कि राजा के पास कोई बेटा नहीं था। इस वजह से, राजा...
जागेश्वर मंदिर का इतिहास "जागेश्वर धाम" उत्तराखंड के मुख्य देवस्थालो में से एक प्रसिद्ध तीर्थस्थल है। यह उत्तराखंड का सबसे बड़ा मंदिर समूह है। यह मंदिर देवदार के वन के बीच में कुमाऊं मंडल के अल्मोड़ा जिले से 38 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। उत्तराखंड के जागेश्वर को पांचवा धाम" भी कहा जाता है। जागेश्वर मंदिर में 125 मंदिरों का एक...

FOLLOW ME

1,514FansLike
266FollowersFollow
28FollowersFollow

WEATHER

Haldwani
light rain
17.6 ° C
17.6 °
17.6 °
96 %
2kmh
81 %
Sun
21 °
Mon
26 °
Tue
25 °
Wed
23 °
Thu
22 °

POPULAR ARTICLES