उत्तराखंड विभिन्न धार्मिक स्थानो , भक्ति और घूमने ( Tourism ) के लिए सबसे अनुकूल राज्य के रूप में माना जाता है । आज हम आपको ऐसे ही एक खूबसूरत जगह के बारे में बताने जा रहे है और वह जगह है सातताल । सातताल नैनीताल से लगभग 1 घंटे की दूरी पर, 7 ताल एक बहुत ही खूबसूरत जगह है, जिसे आपको नैनीताल की यात्रा के दौरान जरूर घूमना चाहिए । सात-ताल प्रकृति का यह उपहार कई पक्षी प्रजातियों का घर भी है।
यह कहना गलत नहीं होगा कि यह फोटोग्राफरों के लिए भी सबसे अच्छी जगह है।

Sattal-Nainital
Sattal-Nainital

सात झीलों का समूह सात ताल भवाली से केवल 13 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। साथ में, यहाँ पर सात झीलों का अलौकिक रूप देखा जा सकता था।
समुद्र तल से 1288 मीटर की ऊँचाई पर स्थित, सातताल की लंबाई 19 मीटर है, चौड़ाई 315 मीटर और गहराई 150 मीटर है। कहा जाता है कि, तीन ताल राम -लक्ष्मण-सीता को समर्पित हैं।
तो अगर आप सात ताल जाने की योजना बना रहे हैं – तो फिर आपको सात ताल में सूचीबद्ध चीजों का आनंद लेना चाहिए

बोटिंग का मज़ा

जैसा कि नाम से पता चलता है, यह एक ताल है, इसलिए पर्यटक इस ताल में अच्छी तरह से बोटिंग का मज़ा ले सकते हैं।
पर्यटक बोटिंग का मज़ा लेते हैं हुए आसपास की प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद ले सकते है , और उन्हें अपने कैमरे में कैद भी कर सकते हैं।

यह भी पढ़े – कुमाऊँ का घुघुतिया त्यौहार पढ़े इसके पीछे की रोचक कथा

चीड़ के पेड़ों के बीच ट्रेकिंग और साइकिलिंग करने का मज़ा

सात-ताल कई ट्रेकिंग ट्रेल्स और साइक्लिंग मार्गों के लिए जाना जाता है। चाहे आप नौसिखिया हों या प्रोफेशनल सात-ताल सभी के लिए बिल्कुल सही है,
जहां साइकिलिंग और ट्रेकिंग का भरपूर आनंद लिया जा सकता है।
इसके अलावा, सितारों के बीच पर्यटक प्राकृतिक बजायाला में शिविर का आनंद भी ले सकते हैं।

रंग बिरंगे पक्षी

सात-ताल कई रंग बिरंगे जंगली पक्षियों का घर है, यह कहा जाता है कि, यह स्थान लगभग 230 प्रजातियों का घर है। इसके अलावा, पर्यटक सात-ताल बटरफ्लाई मुजियम का भी लुफ्त उठा सकते है।
यह संग्रहालय तितलियों की 2500 प्रजातियों और कीड़ों की 1100 प्रजातियों के लिए जाना जाता है!

Sattal-Nainital
Sattal-Nainital

सात-ताल कैसे पहुंचे?

सातताल, नैनीताल से लगभग एक घंटे की दूरी पर स्थित है।
जहां राज्य परिवहन की बसें आसानी से या वोल्वो और किराये की टैक्सी आदि के माध्यम से पहुंचा जा सकता है।

सातताल मैप (Map) :

 

 

दोस्तों आपको यह स्टोरी कैसी लगी हमे कमेंट में जरूर बताये या हमारी वेबसाइट Nikhil-Joshi में अपनी राय भेजे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here